Khari Khari

Just another weblog

2 Posts

14 comments

Alok Mishra


Sort by:

हमें आगे आना है

Posted On: 4 Feb, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.25 out of 5)
Loading ... Loading ...

मस्ती मालगाड़ी में

14 Comments

Hello world!

Posted On: 9 Jan, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

आलोक मिश्र जी अभिवादन, होली की मुबारकबाद, भाई, मजा आ गया पढ़ के. मै भी थोडा सा लिख लेता हु. इसी अंदाज में, इसलिए अच्छा लगा. आपकी बात बिलकुल सही है. ये तो आप भी जानते ही होंगे की जिस आगे बढ़ने की बात आप कर रहे है, वह किसी लाइन में आगे बढ़ने की नहीं है. वो तो जीवन में आगे बढ़ने की है. संघर्ष ही तो जीवन का नाम है. कोशिश करने वालो की कभी हार नहीं होती. समाज से बुराइयों को समाप्त करने के लिए हमें एकजुट होना होगा. जिस किसी लाइन से आप निकाले गए, उसमे खड़े अन्य लोगों की विचारधारा एक थी, और आपकी अलग. वे बहुमत में थे और आप अल्पमत में. गाँधी जी की तरह आपको भी लोगो को एकत्र करना होगा. और फिर आज़ादी आपके पास. थैंक्स.

के द्वारा:




latest from jagran